majedarjokesofficial

Festival Wishes : Raksha Bandhan The Bond of Love and Protection

     

Happy Rakshabandhan 2023 : इस वर्ष भारत में रक्षाबंधन ( Happy Rakshabandhan ) का त्यौहार 30 अगस्त 2023 को मनाया जाएगा | रक्षाबंधन( Happy Rakshabandhan ) हिंदू धर्म का एक महत्वपूर्ण त्योहार है जो भाई-बहन के प्रेम और स्नेह के बंधन का जश्न मनाता है। "रक्षा" ( Raksha ) शब्द का अर्थ होता है सुरक्षा, और "बंधन" ( Bandhan ) शब्द का अर्थ होता है बंधन या बाँध। यह त्योहार हिंदू मासिक श्रावण के पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है, जो आम तौर पर अगस्त में आती है। यह एक प्रसन्न अवसर है जो भाई-बहन को एक-दूसरे के प्रति प्रेम और प्रतिबद्धता को स्थायी बनाता है। रक्षाबंधन ( Rakshabandhan ) के त्योहार का ऐतिहासिक और पौराणिक महत्व दोनों है। इसमें से एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक संदर्भ है चित्तौड़गढ़ की रानी कर्णावती और मुग़ल बादशाह हुमायूँ का किस्सा। संघर्ष के समय, रानी कर्णावती ने मुग़ल बादशाह हुमायूँ को अपनी सुरक्षा की अनुमति के लिए एक राखी (पवित्र धागा) भेजी थी। इस भावुक कदम से प्रभावित होकर हुमायूँ उनकी सहायता के लिए रवाना हो गए और उनके राज्य की सुरक्षा की।

Happy Raksha Bandhan

ये भी पढ़िए :  अरे भाई अगर MOOD OFF है तो जाकर सो जाओ ना

 

त्योहार के पारंपरिक पौराणिक संबंधों में भी कई कहानियां हैं। एक ऐसी प्रसिद्ध पौराणिक कथा है भगवान कृष्ण और द्रौपदी की, जिसमें द्रौपदी ने भगवान कृष्ण के घायल अंगूठे को बांधने के लिए अपनी साड़ी का टुकड़ा छीना था, जिससे भगवान ने उन्हें सहायता करने की प्रतिज्ञा की थी। एक और प्रसिद्ध पौराणिक कथा है देवी लक्ष्मी और राजा बलि की, जिसमें देवी ने उन्हें राखी बांधकर उन्हें अपना भाई बनाया और उनके द्वारा उनके दिव्य आवास की सुरक्षा की।

 

रस्में और उत्सव :

रक्षाबंधन ( Happy Rakshabandhan ) को खुशी और उत्साह के साथ पूरे भारत और भारतीय विदेशी अंतरवासी में धूमधाम से मनाया जाता है। तैयारियाँ भाई-बहन एक-दूसरे को खुबसूरत राखी और उपहार खरीदने से पहले ही शुरू हो जाती हैं।

रक्षाबंधन ( Happy Rakshabandhan )  के दिन, बहने अपने भाइयों के लिए आरती करती हैं और उनके माथे पर लाल तिलक लगाती हैं।

फिर, वे  अपने भाइयों के कलाई पर राखी बांधती हैं, जिससे उनके प्रेम, देखभाल और सुरक्षा का प्रतीक बनता है। उत्तराधिकारी तौर पर, भाईयों को अपनी बहनों की सुरक्षा का वचन देना पड़ता है और उन्हें प्रेम का उपहार देना होता है।

 

ये भी पढ़िए : कुछ दोस्त बड़े अजीब होते है फिर भी दिल के करीब होते है

 

यह त्योहार केवल जीवनी भाई-बहन के संबंधों के बारे में नहीं है, बल्कि वह उन भाइयों और बहनों के बीच एकजुटता, प्रेम और इस्पात को बढ़ावा देने के लिए भी अपनाया जाता है जो एक-दूसरे को भाई और बहन के रूप में समझते हैं। यह परिवार की मूल्यों और सांस्कृतिक परंपराओं की पुनरुत्थान में मदद करता है, जिन्हें एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक भेज दिया जाता है।

 

नैतिक महत्व :

रक्षाबंधन ( Happy Rakshabandhan ) एक ऐसा उत्सव है जो केवल एक रस्म नहीं, बल्कि गहरे नैतिक महत्व को धारण करता है। यह एक दिन है जो भाई-बहन के बीच के प्रेम और सहायता के बंधन को सार्थक बनाता है। बहनें जानती हैं कि उनके पास उनके भाइयों की सुरक्षा है, जबकि भाईयों को अपनी बहनों की सुरक्षा का ध्यान रखने का एक अहसास होता है।

यह त्योहार ( Happy Rakshabandhan ) भी भाई-बहन के बीच के बलिदान और प्रेम को याद दिलाता है। यह परिवार की मूल्यों को मजबूत बनाने और सांस्कृतिक परंपराओं को जीवित रखने में मदद करता है, और उन्हें एक-दूसरे के साथ करीबी और सम्मानपूर्ण रिश्तों का अनुभव करने की शिक्षा देता है।

 

ये भी पढ़िए : Friendship Day Delights : Wishing You Happiness and Love

 

निष्कर्ष :

रक्षाबंधन ( Happy Rakshabandhan ) एक सुंदर उत्सव है जो भाई-बहन के बीच के प्रेम के अद्भुत बंधन की प्रतीक्षा करता है। यह एक दिन है जो हमारे दिलों को खुशी से भर देता है और हमें याद दिलाता है कि भाई-बहन के रिश्ते में आपसी सम्मान और प्रेम न केवल अवश्य चाहिए, बल्कि इनकी सुरक्षा और आपसी समर्थन के बंधन को अभिन्न भाव में बांधे रखना भी महत्वपूर्ण है। रक्षाबंधन एक प्यारी खुशीयों वाला अवसर है जो हमारे दिल को खुशियों से भर देता है और हमें अपने प्रियजनों के साथ समय बिताने का अवसर प्रदान करता है |

 

 

Related Jokes

Comment
Toal Comments  ( 0 )