Chaitra Navratri 2021 के पहले दिन माता शैलपुत्री की पूजा और उनकी कृपा पाने का मंत्र

     

सनातन धर्म में चैत्र नवरात्रि बहुत विशेष मानी जाती है। नवरात्रि के पहले दिन घट स्थापित किया जाता है और अखंड दीपक प्रज्वलित किया जाता है। इसी के साथ नवरात्रि का पहला दिन मां शैलपुत्री को समर्पित होता है। Chaitra Navratri 2021 के पहले दिन माता शैलपुत्री की पूजा करके उन्हें प्रसन्न करने और उनकी कृपा पाने का मंत्र पता होना बहुत जरुरी है |

माता शैलपुत्री का मंत्र इस प्रकार है : 


वन्दे वांछितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखरम्।

वृषारूढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्।।

पूणेन्दु निभां गौरी मूलाधार स्थितां प्रथम दुर्गा त्रिनेत्राम्॥

पटाम्बर परिधानां रत्नाकिरीटा नामालंकार भूषिता॥


प्रफुल्ल वंदना पल्लवाधरां कातंकपोलां तुंग कुचाम् ।

कमनीयां लावण्यां स्नेमुखी क्षीणमध्यां नितम्बनीम् ॥


या देवी सर्वभूतेषु शैलपुत्री रूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै नमो नम:।


ओम् शं शैलपुत्री देव्यै: नम:।


माता शैलपुत्री की कृपा से  नवरात्रि में आपको खुशियाँ मिले अपार  | इस पोस्ट को अपने सभी मित्रों और परिचय वालों के साथ शेयर जरुर करें और हमारी साईट पर majedar jokes पढ़ते रहें| 


Related Jokes

Comment
Toal Comments  ( 0 )